Short Essay On Water Pollution In Hindi Language

Harmful effects of Water Pollution on the Environment

1. हमारी धरती का करीब 70% हिस्से में पानी भरा हुआ है
 
2. धरती का सबसे ज्यादा पानी समुन्द्र में एकत्रित है
 
3. धरती पर इतना पानी है कि अंतरिक्ष से भी हमारी धरती नीली दिखाई देती है लेकिन केवल 2.5% प्रतिशत पानी ही पीने योग्य है

4. Water Pollutants and their source and effects– बड़ी बड़ी इंटस्ट्री और उद्योगों का 70% कचरा पानी में ही जाता है जिससे पीने योग्य पानी भी धीरे धीरे दूषित होता जा रहा है

5. चीन में करीब 32 करोड़ लोगों के पास पीने का शुद्ध पानी नहीं है

6. चाइना का केवल 20% पानी ही पीने योग्य है लेकिन वो भी बहुत ज्यादा दूषित है

7. करीब साढ़े 6 अरब किलोग्राम कचरा हर साल समुन्द्र में डाला जाता है जिसमें सबसे ज्यादा प्लास्टिक के बैग और पन्नी होते हैं

8. दुनियां भर में करीब डेढ़ करोड़ बच्चे(जिनकी उम्र 5 साल से कम है) दूषित पानी पीने से मर जाते हैं

9. भारत की प्रसिद्ध गंगा नदी भी दुनिया की सबसे दूषित नदियों में आती है जिसमें सीवेज, कचरा, भोजन, और पशुओं के अवशेष भरे पड़े हैं

10. बांग्लादेश के करीब 85% भूजल में आर्सेनिक नाम का रसायन मिला हुआ है जो एक प्रकार का जहर के समान है

11. अमेरिका की करीब 40% नदियां इतनी ज्यादा दूषित हैं कि उनमें तैरने से भी भयानक बीमारियां होने का डर रहता है

12. गन्दा पानी पीने से ही हैजा और टाइफाइड जैसी महामारियां फैलती हैं

13. 80% जल प्रदूषण तो घरेलू कचरा खुली जगह फैकने या गंदगी नालियों में फैंकने से फैलता है

14. एशिया में नदियां सबसे ज्यादा दूषित हैं और यह लोगों के मल और मूत्र से बहुत ज्यादा प्रदूषित हो चुकी हैं

15. प्लास्टिक के बैग और पन्नियाँ जल प्रदूषण को कई गुना बढ़ा देती हैं, प्लास्टिक खाने की वजह से समुन्द्र की हजारों मछलियाँ हर साल मर जाती हैं

16. दुनिया भर में करीब 70 करोड़ लोग ऐसे हैं जो दूषित पानी पीते हैं

17. चमड़ा और केमिकल बनाने वाली फैक्ट्रीयों का कचरा सबसे ज्यादा खतरनाक होता है

18. करीब 2 करोड़ टन मल और मूत्र हर दिन नदियों में जाता है

19. भारत में करीब 1000 बच्चे रोजाना दूषित पानी पीने से मर जाते हैं

 विषय:- कानून में छोटी नदियों को साफ़ रखने के क्या प्रोसेस है क्या नदी को प्रदूषित करने वाले नागरिकों और नगर पालिका को दण्डित नहीं किया जाता है!महोदय,        निवेदन है की नागौद नदी आज से 25 साल पहले बहुत स्वच्छ थी, लेकिन समय के साथ आबादी बढ़ने के साथ ही गंदगी भी बढ़ गई, यह बढ़ी गंदगी अब भयंकर हो गई है, नागौद की नर्सरी के पास के नाले से लेकर के किला का नाला, पिली घात का नाला, साम्हू घाट का नाला, चमरौली घात का नाला, नागौद के बड़े नाले की गंदगी एवं नागौद के हाइवे के किनारे के नाले की गंदगी, इसके बाद भी नागौद के इकरार मोहल्ला में बने चर्म सोधन की गंदगी भी नदी में डाली जाती है जिससे नागौद की आमरन नदी को अब नाला बनकर रह गई है, विनती है की इस नदी को नया जीवन देने की सिफारिस करे और नदी को पूर्णतः समाप्त होने से बचा ले एवं नदी की मिटटी व बालू के ढेर को नदी की बीच धार से हटाने की पहेल करे नदी में स्वच्छ जल का प्रवाह बने रहने दे, गंदगी करने वालो को दण्डित करे वा गंदगी करने वालों को नदी से दूर करे, नदी की मोटी बालू को नीलामी के लिए शासकीय भूमि में एकत्र कराए, नदी की उपजाऊ मिटटी को जरुरत मंद किशानो को दे दे        अतः महोदय जी से अनुरोध है की नदी को नया जीवन देने का कष्ट करे!

One thought on “Short Essay On Water Pollution In Hindi Language

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *